5g क्या है? | What is 5G Technology in Hindi (Latest Update)

5G Kya Hai (What is 5G Technology in Hindi) , भारत में 5G का भविष्य (5G Future in India) , 5G कैसे काम करती है? , 5G Network, Spectrum (स्पेक्ट्रम)

हम साल 2021 पहुँच चुके हैं और यह 5G का दौर है| वैसे तो 5G की चर्चा पिछले दो वर्षों से हो रही है| ऐसे में 5G से संबंधित आप के सभी प्रश्नों के उत्तर इस पोस्ट में मिल जायेंगे|

जैसे पिछले 10 वर्षों में Mobile Technology में निरंतर बदलाव हुए हैं, पहले Wire वाले फ़ोन हुआ करते थे और आज Wireless Phone का दौर चल रहा है जिसके कारण लोग नये Generation का Phone इस्तेमाल कर रहे हैं| मोबाइल फ़ोन का Generation उसके बदलते हुए रूप व रंग के आधार पर निर्धारित किया जाता है|

हमारी मोबाइल  Technology भी First Generation(1G) से Fourth Generation(4G) तक का सफ़र तय कर चुकी है और अब Fifth Generation(5G) की तरफ बढ़ रही है| ऐसे में आप को जानना बहुत जरुरी हो जाता है कि 5G Technology क्या है? कैसे काम करती है? और इंडिया में कब आएगा?

तो आइये इस विषय पर विस्तृत जानकारी को जानते हैं|

5G क्या है? (What is 5G Technology in Hindi)

what is 5g technology in hindi 1

5G मोबाइल नेटवर्क का पांचवा जनरेशन है| यह पांचवी पीढ़ी की बेहतरीन Latest Wireless Technology है जो कि Multi GBPS डाटा स्पीड देने में सक्षम है| इसे ऐसे तरीके से डिजाईन किया गया है जिससे की वायरलेस नेटवर्क की स्पीड को बढ़ाया जा सके तथा इसे Responsive बनाया जा सके|

यह 4G Wireless Network की स्पीड का 100 गुना तेज़, लगभग 20 Gbps  से ज्यादा स्पीड में डाटा को Transmit कर सकता है| 5G में Advanced Wireless Technology होने के कारण ज्यादा Amount में डाटा को आसानी से Transmit किया जा सकता है| यह एक ऐसा Wireless Network Technology है जो की  Speed और Capacity में Improvement के अलावा भी बहुत से Feature प्रदान करती है|

जैसे की 5G Network Slicing – यह Single Physical Network को Multiple Virtual 5G Network में Convert करता है तथा एक-दूसरे से अलग करता है| इस Feature का उपयोग किसी भी Specific Uses तथा Business Uses में किया जा सकता है|

यदि हम Self Driving Car का उदाहरण लें तो यह Network Slicing के Principal पर काम करता है जो की बहुत ही Fast होता है| इसकी खास बात यह है की इसमें बहुत ही कम Latency Connection होने के कारण किसी भी Vehicle को Real Time में Navigate किया जा सकता है|

5G Technology को अलग-अलग स्टेज में Develop किया जा रहा है जिससे की आने वाले वर्षों में बढ़ते हुए Mobile User तथा Internet Services की जरूरतों को पूरा किया जा सके| भारत तथा दुनियाभर के Telecom Operator मोबाइल टेक्नोलॉजी की Next Generation 5G को लाने की तयारी कर रहे हैं| मुझे लगता है अब आपको समझ में आ गया होगा की 5G क्या है? (What is 5g in hindi).

5G तकनीकी काम कैसे करता है

किसी भी Wireless नेटवर्क तकनीकी में छोटे छोटे Cell Sites होते हैं जिन्हें Cell Station भी कहा जाता है| यह रेडियो Waves की सहायता से डाटा को Transmit करते हैं, इन सेल स्टेशन को बहुत से जगह जैसे Cell Tower तथा छत के ऊपर लगाया जाता है|

Fourth Generation(4G) एक ऐसी तकनीकी है जिससे की 5G Wireless Technology का आधार माना जाता है| 4G को LTE (Long Term Evaluation) Wireless टेक्नोलॉजी भी कहा जाता है| इसमें High पॉवर सेल Towers की जरुरत होती है जो की किसी भी Signal को Long Distance तक आसानी से Transmit किया जा सके|

5G Technology के पांच आधार

what is 5g technology in hindi 2
5G technology information

यह मुख्यतः पांच तकनीकों के आधार पर काम करता है|

1. Millimeter Wave :

5G में Millimeter Wave (mmWave) स्पेक्ट्रम का इस्तेमाल किया जाता है जो की 1 GBPS की स्पीड से डाटा को ट्रान्सफर कर सकता है| इस स्पेक्ट्रम का Bandwidth 24 GHz से 300 GHz के बीच होती है| ऐसी तकनीकी का इस्तेमाल अमेरिका के AT&T और Verizon टेलीकॉम कंपनी ही कर रहे हैं|

mmWave में एक दिक्कत है की यह रुकावटों में काम नहीं करता है इसलिए यह केवल Short Distances ही Travel कर सकता है|

2. Speed Cells :

mmWave के दिक्कतों की भरपाई स्पीड सेल्स करता है इसलिए मेन Cell Tower से Signal Relay को Transmit करने के लिए पूरे क्षेत्र में ज्यादा संख्या में छोटे सेल टावर लगाये जाते हैं ताकि User को बिना रूकावट के 5G Signal मिल सके| इन छोटे टावर को दुसरे Towers की तुलना में कम दूरी पर लगाया जाता है |

3. MIMO :

MIMOका फुल फॉर्म होता है- Multiple Input And Multiple Output. इस Technology का इस्तेमाल करके ट्रैफिक को Manage किया जाता है| MIMO, 100 Antenna के साथ Support करता है जिससे की यूजर को आसानी से 5G Signal मिल सके|

4. Beam Farming :

यह एक ऐसी Technology है जिससे की लगातार आ रहे Frequency की बहुत सारे Sources को Monitor करती है यदि एक Signal ब्लॉक हो जाता है तो दुसरे अधिकतम स्पीड वाले टावर पर Switch करती है और Important Data को एक निश्चित दिशा  में ही भेजती है|

5. Full Duplex :

यह समान Frequency Band में एक साथ डाटा को Transmit और Receive भी करने का काम करता है| इस तरह के Technology का इस्तेमाल Landline Phone में किया जाता है जो की दोनों तरफ से समान Traffic भेजता है|

5G Technology की विशेषतायें

“5g kya hai” जानने के बाद आप सोच रहें होंगे की 5G तकनीकी की कौन सी ऐसी विशेषतायें हैं जो की मौजूदा नेटवर्क टेक्नोलॉजी में नहीं हैं| आइये इन सब के बारे में जानते हैं-

1. इस Technology में Data Transmission Rate लगभग 20Gbps है तथा इसके साथ 4G की तुलना में 100 गुना नेटवर्क Improvement है|

2. इसकी Latency 1 मिली सेकंड से भी कम होता है|

3. यह एक अच्छी Connectivity प्रदान करती है|

4. 5G Network में Per Unit Area में 1000 गुना Bandwidth Frequency होती है|

5. यह Maximum Energy को Save करता है जिससे लगभग 90% तक नेटवर्क Energy Usage को कम करता है|

6. इस तकनीकी में ज्यादा Capacity होने के कारण ज्यादा Devices के साथ Instantaneously Connect होने में मदद करती है|

7. यह Communication के लिए ज्यादा Reliable होती है|

8. यह बहुत ही कम  Battery Consumption करती है|

भविष्य में आने वाली 5G की विशेषताओं के बारे में यह पोस्ट “5G Technology in hindi” आपके लिए मददगार साबित होगी|

 5G की स्पेक्ट्रम Band क्या है?

what is 5g technology in hindi 3
5G Spectrum Hindi Full Details

वैसे तो 3500 MHz Bandwidth Frequency को आदर्श माना जाता है लेकिन 5G Network 3400 MHz, 3500 MHz तथा 3600 MHz Frequency पर रन करते हैं| जहाँ MHz का फुल फॉर्म Mega Hertz होता है|

इसमें सबसे ज्यादा भूमिका Millimeter Waves की होती है| मिलीमीटर तरंगे 24 Hz से 300 Hz Frequency पर काम करती है|इन तरंगो का उपयोग अभी तक Satellite Networks तथा रडार सिस्टम के लिए ही किया जाता है|

5G के Advantages क्या हैं?

फ़िलहाल तो 5G के बहुत से Advantages हैं| मैंने आपको इस विषय के माध्यम से पूरी विस्तृत जानकारी को समझाने का प्रयास किया है| उम्मीद है आपको समझ आएगा, आइये जानते हैं|

1. 5G Traffic Capacity और नेटवर्क Efficiency में 20 Gbps की स्पीड देने में सक्षम है|

2. इस Technology के माध्यम से सभी Network को एक ही Platform पर लाया जा सकता है |

3. इसकी Latency 1 मिली सेकंड से भी कम होता है जिससे की यह तुरंत कनेक्शन Establish करने तथा Network Traffic को कम करने में मदद करता है|

4. यह एक ऐसी Technology है जिसकी मदद से Virtual Reality, आटोमेटिक ड्राइविंग और Internet Of Things भी संभव हो सकेंगे|

5. यह टेक्नोलॉजी, Smartphone, मेडिकल Infrastructure तथा Manufacturing के विकास में भी मदद करेगा|

6. Upload Speed के साथ साथ Download Speed भी बेहतर होगा|

7. इस तकनीकी को Previous Generation के साथ आसानी से Operate किया जा सकता है|

8. इस तकनीकी की सहायता से आप पूरी दुनिया में बिना रूकावट के लगातार Connectivity पा सकेंगे|

9. इसके माध्यम से आप Multiple Services को Operate कर सकते हैं जैसे की आप बात करते समय Location की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं|

10. इस तकनीकी की सहायता से अन्तरिक्ष में दुसरे ग्रहों  को देखना आसान  हो जायेगा|

11. आप किसी भी खोये हुए व्यक्ति को आसानी से Search कर पाएंगे|

12. प्राकृतिक आपदाओं जैसे सुनामी, भूकंप तथा किसी भी प्रकार का Natural Disaster को पहले से ही Deduct किया जा सकेगा|

13. इस तकनीकी की सहायता से आप अपने Home Appliances को Handsets की मदद से आसानी से Control कर सकते हैं|

5G के Dis-Advantages क्या हैं ?

इस Technology के कुछ Dis-Advantages भी हैं जिन्हें हम Discuss करने वाले हैं |

1. 5G तकनीकी अभी Under Trial में है जिसके बारे में अभी भी रिसर्च जारी है तथा सभी कमियों को दूर किया जा रहा है|

2.  बहुत से पुराने Devices में 5G तकनीकी Support नहीं करता है जिसके कारण उन्हें बदलना पड़ेगा जो की बहुत ही Expensive साबित होगा|

3. 5G तकनीकी के Infrastructure में ज्यादा खर्च लग सकता है|

4. इस तकनीकी में प्राइवेसी तथा Security से रिलेटेड Issue मौजूद हैं जिन्हें Solve किया जा रहा है|

4G और 5G में अंतर (Difference Between 4G And 5G in Hindi)

आने वाले कुछ दिनों में 5G की शुरुआत अपने देश में होने वाली है| इस तकनीकी के माध्यम से Mobile सेवाएँ पूरी तरह से बदल जाएँगी| ऐसे में आपको जानना चाहिए की 4G और 5G में कितना Difference है|

1. Speed : 4G Network पर Maximum Ideal स्पीड 100 Mbps होती है जबकि 5G में यह स्पीड 10 Gbps होगी| 5G Network, 4Gकी तुलना में 100 गुना ज्यादा फ़ास्ट है|

2. Latency : हम आप को बता दें की जब आप अपने फ़ोन से मेसेज Send करते हैं तो Message सेंड होने से लेकर, Receive होने तक के बीच के समय को लेटेंसी से मापा जाता है| वैसे तो 4G में लेटेंसी महसूस नहीं होती लेकिन 5G में बहुत तेज हो जाएगी|

3. Loading : आप जब भी Google पर कुछ सर्च करते हैं तो जो पेज खुलकर सामने आता है, इन सब के बीच जो लोडिंग समय लगता है| वह 4G के लिए लगभग 20 ms पर सेकेंड लगता है जबकि यही समय 5G के लिए 2 ms पर सेकेंड का हो जायेगा|

4. Buffering : आप जब भी किसी YouTube पर किसी विडियो को प्ले करते हैं तो नेटवर्क Slow होने के कारण विडियो रुक रुक कर चलता है जिसे बफरिंग कहते हैं| 5G में बफरिंग नहीं होगा|

5. Cloud Gaming: आप जब भी 4G नेटवर्क से ऑनलाइन गेमिंग खेलते हैं तो कभी कभी गेम Slow हो जाता है जो की Cloud Base से रेगुलेट होता है जिससे नेटवर्क स्लो होने से गेम लैग होने लगता है| अब इसी समस्या को 5G  में Fix किया गया है|

5G इंडिया में कब आएगा? (5G Future in India)

5g क्या है?, जानने के बाद आप के मन में यह सवाल आ रहा होगा की 5G मोबाइल इंडिया में कब Launch होगा? Government ने 5G स्पेक्ट्रम के नीलामी की शुरुआत कर दी है अभी फ़िलहाल 3400 MHz से 3600 MHz Frequency को नीलामी के लिए शुरु किया जायेगा| इस सम्बन्ध में Telecom Department अपनी पालिसी ला सकता है|

India में कुछ कंपनी ऐसी भी हैं (Airtel 5G) जिन्होंने 1800 Bandwidth पर 4G तकनीकी के साथ 5G को अपग्रेड कर लिया है|पहले Trial में सफल होने के बाद कंपनी का ये कहना है की कुछ बदलाव भर से ही Company 5G मोड में Wireless Network की सुविधा प्रदान करने लगेगी| Jio भी 5G लाने की तैयारी में जुट गयी है|

5G तकनीकी लाने से पहले डाटा को Hosting और Cloud सर्विसेज को रेगुलेटरी Condition में बदला जायेगा जिससे यूजर को बहुत ही बेहतरीन अनुभव होगा|

FAQ

  1. इंडिया में 5G मोबाइल कब Launch होगा?

    वैसे तो भारत में 5G तकनीकी पर काम चल रहा है| बहुत सी कंपनिया अपनी 5G Compatibility वाले फ़ोन को लांच कर दिया है और बहुत जल्द ही 5G भी Launch हो जायेगा|

  2. 4G Handsets को 5G में Upgrade कर सकते हैं?

    फिलहाल तो एयरटेल ने 5G तकनीकी को 4G तकनीकी के साथ अपग्रेड करके Test भी कर लिया है| इससे यही लग रहा है की यह बहुत हद तक संभव है लेकिन इस बात की अभी पुष्टि नहीं हुयी है|

  3. 5G इंडिया में कब Launch होगा?

    सूत्रों के अनुसार भारत में 5G को लगभग बहुत जल्द ही लांच कर दिया जायेगा वैसे यह अनुमान है की 2022 तक Launch कर दिया जायेगा|

आशा करता हूँ की आपको हमारा लेख “5G क्या है? (What is 5G Technology in Hindi)” पसंद आया होगा तथा इससे आपको कुछ सिखने को मिला होगा| यदि ऐसा है तो कृपया इस पोस्ट को Social Media जैसे – Facebook, Twitter, WhatsApp, Instagram पर शेयर करें तथा अपना विचार Comment में लिखें |

तथा अपने सुझावों को हमारे साथ साझा करें| आप हमें Gmail Id के द्वारा Contact कर सकते हैं |

धन्यवाद्

Other Links

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *